3. तीसरा अध्याय | Chanakya Neeti : Third Chapter

महान आचर्य चाणक्य ( THE INDIAN ACHARYA)
8 Pins62 Followers
1. इस दुनिया  मे ऐसा किसका घर है जिस पर कोई कलंक नहीं, वह कौन है जो रोग और दुख से मुक्त है.सदा सुख किसको रहता है?  1. In this world, whose family is there without blemish? Who is free from sickness and grief? Who is forever happy?   २. मनुष्य के कुल की ख्याति उसके आचरण से होती है, मनुष्य के बोल चल से उसके देश की ख्याति बढ़ती है, मान सम्मान उसके प्रेम को बढ़ता है, एवं उसके शारीर का गठन उसे भोजन से बढ़ता है.   2. A man's descent may be discerned by his conduct, his country by his pronunciation…

1. इस दुनिया मे ऐसा किसका घर है जिस पर कोई कलंक नहीं, वह कौन है जो रोग और दुख से मुक्त है.सदा सुख किसको रहता है? 1. In this world, whose family is there without blemish? Who is free from sickness and grief? Who is forever happy? २. मनुष्य के कुल की ख्याति उसके आचरण से होती है, मनुष्य के बोल चल से उसके देश की ख्याति बढ़ती है, मान सम्मान उसके प्रेम को बढ़ता है, एवं उसके शारीर का गठन उसे भोजन से बढ़ता है. 2. A man's descent may be discerned by his conduct, his country by his pronunciation…

Pinterest
Search