Punjabi Poetry,Dil Se,Not Quotes,Urdu Poetry,Shayri,Thoughts

...जैसे किसी किताब की जिल्द से गिरकर आख़िरी सफ़े, गुम गए। #JSRudrāīs नामुराद...अब तो ये शेर भी हमसे मुकम्मल नही होते।

...जैसे किसी किताब की जिल्द से गिरकर आख़िरी सफ़े, गुम गए। #JSRudrāīs नामुराद...अब तो ये शेर भी हमसे मुकम्मल नही होते।

मंज़िलें क्या है, रास्ता क्या है? हौसला हो तो फ़ासला क्या है? #JSRudrāīs

मंज़िलें क्या है, रास्ता क्या है? हौसला हो तो फ़ासला क्या है? #JSRudrāīs

मुसीबत मे अगर मदद मांगो तो सोच कर मागना क्यो कि मुसीबत थोड़ी देर की होती है और एहसान जिन्दगी भर......... कल एक इंसान रोटी मांगकर ले गया और करोड़ो की दुआये दे गया, पता ही नही चला की, गरीब वो था कि मै.......... अमीर की बेटी पार्लर मे जितना देर से आती है, उतने मे गरीब की बेटी अपने ससुराल चली जाती है........... अंहकार दिखा के किसी रिस्ते को तोड़ने से अच्छा है अपनी गलती मानकर वो रिस्ता निभाया जाये......... जिन्दगी तेरी भी अजब परिभाषा है..सँवर गई तो जव्नत , नही तो सिर्फ तमाशा है.......... जिव्...

मुसीबत मे अगर मदद मांगो तो सोच कर मागना क्यो कि मुसीबत थोड़ी देर की होती है और एहसान जिन्दगी भर......... कल एक इंसान रोटी मांगकर ले गया और करोड़ो की दुआये दे गया, पता ही नही चला की, गरीब वो था कि मै.......... अमीर की बेटी पार्लर मे जितना देर से आती है, उतने मे गरीब की बेटी अपने ससुराल चली जाती है........... अंहकार दिखा के किसी रिस्ते को तोड़ने से अच्छा है अपनी गलती मानकर वो रिस्ता निभाया जाये......... जिन्दगी तेरी भी अजब परिभाषा है..सँवर गई तो जव्नत , नही तो सिर्फ तमाशा है.......... जिव्...

Pinterest
Search