More ideas from asha

मुसीबत मे अगर मदद मांगो तो सोच कर मागना क्यो कि मुसीबत थोड़ी देर की होती है और एहसान जिन्दगी भर......... कल एक इंसान रोटी मांगकर ले गया और करोड़ो की दुआये दे गया, पता ही नही चला की, गरीब वो था कि मै.......... अमीर की बेटी पार्लर मे जितना देर से आती है, उतने मे गरीब की बेटी अपने ससुराल चली जाती है........... अंहकार दिखा के किसी रिस्ते को तोड़ने से अच्छा है अपनी गलती मानकर वो रिस्ता निभाया जाये......... जिन्दगी तेरी भी अजब परिभाषा है..सँवर गई तो जव्नत , नही तो सिर्फ तमाशा है…

ज़रा सी आहट होती है तो दिल सोचता है कहीं ये वो तो नहीं छुप के सीने में, छुप के सीने में कोई जैसे सदा देता है शाम से पहले दिया दिल का जला देता है है उसी की ये सदा, है उसी की ये अदा कहीं ये वो तो नहीं शक्ल फिरती है, शक्ल फिरती है निगाहों में वही प्यारी सी मेरी नस नस में मचलने लगी चिंगारी सी छू गयी जिस्म मेरा, किसके दामन की हवा कहीं ये वो तो नहीं